ट्रैक्टर ट्रॉलियों में दिल्ली बॉर्डर की ओर कूच कर रहे किसान, कल मनाएंगे आंदोलन की वर्षगांठ

Delhi border farmer protest anniversary farmer protest दिल्ली बॉर्डर किसान आंदोलन किसान आंदोलन की वर्षगांठ
दिल्ली रवाना होते किसान

चंडीगढ़: कृषि कानूनों की वापसी के बाद किसान अब एमएसपी पर कानून की मांग को लेकर फिर से सरकार से टकराव के लिए तैयार हैं। कृषि कानूनों की वापसी के बाद जो आंदोलन खत्म हो जाना चाहिए था वो खत्म नहीं हुआ है और एक बार फिर अब दिल्ली की सीमाओं पर किसान जुट रहे हैं।

कल यानि 26 नवंबर को किसान आंदोलन की बर्षगांठ है और इसके लिए हरियाणा के तमाम जिलों से किसान रवाना हो रहे हैं। ट्रैक्टर ट्रॉलियों में भर कर किसान टिकरी बॉर्डर और सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना हो रहे हैं। किसान कल धरना स्थलों पर किसान आंदोलन की बर्षगांठ मनाएंगे। वहीं, आंदोलन वापसी को लेकर भी फिलहाल कोई फैसला संयुक्त मोर्चा की तरफ से नहीं लिया गया है।

किसान अब एमएसपी पर गारंटी की मांग कर रहे हैं और इसके साथ ही आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों को आर्थिक मदद की भी मांग की जा रही है। वहीं, 29 नवंबर को किसान दिल्ली कूच की भी तैयारी में हैं। हालांकि सिर्फ 500 किसान ही 29 नवंबर को दिल्ली कूच करेंगे, लेकिन इसके बाद हर रोज किसान छोटी छोटी संख्या में दिल्ली के लिए रवाना होंगे।