पहाड़ों से पत्थर गिरने के कारणों का अध्ययन करने के लिए पहुंची टीम

शिमला। केंद्र सरकार की कई टीमें भूस्खलन और पहाड़ों से पत्थर गिरने के कारणों का अध्ययन करने लिए किन्नौर के भूस्खलन स्थल निगुलसारी पहुंचीं। राष्ट्रीय राजमार्ग के एग्जिक्यूटिव इंजिनियर के. एल. सुमन ने बताया कि अध्ययन का मकसद भूस्खलन के कारणों का पता लगाना और भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों या हों भी तो कम से कम नुकसान हो इसके लिए कौन से तरीके अपनाए जा सकते हैं का पता लगाना था।

उन्होंने कहा कि विस्तार से निरीक्षण कर लिया गया है। फील्ड से जो डेटा चाहिए था ले लिया गया है। वे स्टडी करके हमें रिपोर्ट देंगे।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के चीफ इंजीनियर, डीआरडीओ के वैज्ञानिक, राष्ट्रीय राजमार्ग के चीफ इंजीनियर, राष्ट्रीय राजमार्ग के सुपरिटेंडिंग इंजिनियर और उनके साथ आई बाकी टीम ने दुर्घटना स्थल का निरीक्षण किया।