कांग्रेस के कई विधायक-सांसद हमारे संपर्क में…पर हम उनका कचरा नहीं चाहते: केजरीवाल

Delhi cm arvind kejriwal Amritsar aap Punjab congress punjab assembly elections पंजाब विधानसभा चुनाव अरविंद केजरीवाल नवजोत सिंह सिद्धू आम आदमी पार्टी पंजाब कांग्रेस

अमृतसर: पंजाब में विधानसभा चुनाव एकदम नजदीक हैं। चुनाव के नजदीक आते ही राजनैतिक पार्टियों में जुबानी जंग भी छिड़ गई है। पंजाब के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अमृतसर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि जिन लोगों को टिकट  नहीं मिलने की आशंका रहती है वो  दूसरी पार्टियों में जाना शुरू कर देते हैं।  पंजाब के कई कांग्रेस विधायक हमारे संपर्क में हैं, लेकिन हम कांग्रेस का कचरा लेना नहीं चाहते। अगर ऐसा चाहें  तो शाम तक 25 विधायक और दो तीन सांसद आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

इसके अलावा केजरीवाल ने नवजोत सिंह सिद्धू की तारीफे के पुल बांधे और सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पर एक बार फिर निशाना साधा।  केजरीवाल ने कहा कि वह सिद्धू की सच बाेलने की हिम्‍मत की दाद देते हैंं। यहां पत्रकारों से बातचीत में उन्‍होंने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्‍नी पर जमकर हमले किए, लेकिन नवजोत सिद्धू की प्रशंसा की।

केजरीवाल में कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी कह रहे हैं कि राज्‍य में रेत सस्ता हो गया, बिजली सस्ती हो गई, लेकिन सिद्धू मंच पर आकर उन्हें झूठा साबित कर रहे हैं। मैं सच बोलने के लिए सिद्धू की हिम्मत की दाद देता हूं।

केजरीवाल ने इस दौरान सरकारी कर्मचारियों को लुभाने की भी कोशिश की है। उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग व अनुबंध शिक्षकों को पक्का करेंगे, कैशलेस बीमा देंगे, नई ट्रांसफर पालिसी लाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि कहा कि वह सत्ता में आए तो आउटसोर्सिंग वाले शिक्षकों व अनुबंध शिक्षकों को पक्का किया जाएगा। कई शिक्षकों को अभी दो-दो स्कूलों में ड्यूटी देनी पड़ रही है। इसे बंद किया जाएगा। शिक्षकों के लिए नई ट्रांसफर पालिसी लाई जाएगी। उन्हें उनके घर के पास पोस्टिंग दी जाएगी।

उन्‍होंने कहा कि अगले चुनाव के बाद हमारी सरकार बनी तो पंजाब के सरकारी स्‍कूलों को दिल्‍ली की तरह विकसित करेंगे। केवल हम ही ऐसा कर सकते हैं और यह अन्‍य पार्टियों के बस से बाहर की बात है। हम शिक्षकों की सभी समस्‍याओं का प्राथमिकता और आपतकालीन आधार पर हल करेंगे।  इससे पहले सोमवार को केजरीवाल मोगा में आयोजित एक रैली में पंजाब की महिलाओं को प्रतिमाह 1 हजार रुपये भत्ता देने का ऐलान कर चुके हैं।