सीएम मनोहर लाल ने की मुख्यंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना की शुरुआत

CM Manohar Lal Antyodaya Parivar Utthan Yojana Chandigarh सीएम मनोहर लाल मुख्यंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना चंडीगढ़ हरियाणा न्यूज
सीएम मनोहर लाल

चंडीगढ़: सीएम मनोहर लाल ने प्रदेश में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना की शुरुआत की है। इसे लेकर सीएम ने आज चंडीगढ़ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। इस दौरान सीएम मनोहर लाल ने बताया कि सरकार ऐसे लोगों की आय बढ़ाने के लिए जरूरी कदम उठा रही है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे हैं।

सीएम ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में सर्वे कराया है जिसमें 50 हजार और 1 लाख रुपये सालाना आय वाले बहुत से परिवारों के आंकड़े सामने आए हैं। सीएम ने कहा कि ऐसे परिवारों की सालाना आय में इजाफा करने के लिए सरकार जरूरी कदम उठाने जा रही है और ये काम परिवार उत्थान योजना के जरिए किया जाएगा।

सीएम ने कहा कि 25 दिसंबर को सरकार प्रदेश भर में सुशासन दिवस भी मनाएगी और 24 ब्लॉक्स में ग्राम उत्थान मेले का कार्यक्रम भी जारी किया गया है।मुख्यमंत्री ने रविवार को हरियाणा निवास में पात्र परिवारों की पहचान के लिए विशेष अभियान लॉन्च किया। सोमवार 29 नवंबर से इसकी शुरूआत होगी। 25 दिसंबर सुशासन दिवस तक 180 स्थानों पर विशेष कैंप लगाए जाएंगे। प्रदेश भर में 70 लाख परिवार पहचान पत्र बनाए जाने हैं, जिसमें से 65 लाख बन चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आय सत्यापन के आधार पर तकरीबन सवा तीन लाख परिवार ऐसे हैं, जिनकी आय एक लाख से कम है। पहले चरण में 1.50 लाख परिवारों को चिह्नित कर मदद दी जाएगी। प्रदेश में 38 हजार परिवार ऐसे हैं, जिनकी वार्षिक आय 50 हजार से कम है। जनवरी माह तक इन परिवारों को बैंक ऋण संबंधित या कौशल विकास को लेकर चलाई जा रही योजनाओं के तहत लाभ दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कैंप में बुलाए गए लाभार्थियों की आय बढ़ाने के लिए अलग-अलग योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। कैंप के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं, साथ ही जन प्रतिनिधि व सामाजिक कार्यकर्ता भी सहयोग करेंगे। इसके साथ ही बैंकों के प्रतिनिधि भी उपस्थिति रहेंगे, जिस योजना के लाभार्थी मानदंड पूरे करेगा, उसे बिना गारंटी के बैक से सरकार ऋण दिलाएगी।

ऐसे शुरू होगी प्रक्रिया

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि शेड्यूल के अंतर्गत 24 स्थानों पर विशेष कैंपों का आयोजन किया जाएगा। इन कैंपों में 1.50 लाख परिवारों को बुलाया गया है। प्रत्येक कैंप में वेलकम डेस्क बनाए गए हैं, वहां पर लाभार्थी अपना पंजीकरण कराएगा यहां उससे प्रारंभिक जानकारी ली जाएगी। इसी जानकारी के आधार पर उसे काउंसलिंग सेंटर पर भेजा जाएगा। जहां पर उसे कौशल विकास से जुड़ी योजनाओं सहित खुद का व्यवसाय चलाने की जानकारी दी जाएगी। कैंप में दो घंटे के स्लाट में 150 से 200 पात्रों को बुलाया गया है। अंत में उसे लाभार्थी को अपना फार्म जमा कराना होगा, जहां पर बैंक अपने सिबिल के हिसाब से उसे लोन देने का फैसला करेगा। यदि उसे लोन लेने में किसी तरह की कठिनाई का सामना करना पड़ेगा तो उसके लिए भी योजना बनाई जाएगी।

गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की आय के साधन बढ़ाने लक्ष्य

सीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय उत्थान परिवार योजना का लक्ष्य गरीबी रेखा से नीचे रह रहे परिवारों की आय बढ़ाने के साधन मुहैया करवाना है। सभी को नौकरी उपलब्ध करना कठिन काम है, लेकिन सभी परिवार बेहतर तरीके से जीवन यापन करें, इसको लेकर अंत्योदय योजना की शुरुआत की गई है। पहले चरण में एक लाख परिवारों की सहायता का टारगेट रखा है।

आय सत्यापन से उठ रहे हैं कई पर्दे

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि परिवार पहचान पत्र को लेकर आय सत्यापन का काम चल रहा है। आय सत्यापन के दौरान कई पर्दे उठ रहे हैं। कुछ लोगों द्वारा जानकारियां सही नहीं दी गई हैं, कुछ मामलों में उन्होंने स्वयं फोन करके वेरीफिकेशन की है।